Following COVID Protocols (Vaccination)


Download Audio

Source/Reference :- Oxfam India in coordination with Unilever

Date : 17/05/2021


यह सन्देश ऑक्सफैम एवं यूनीलीवर की तरफ से दिया जा रहा है।

 

लड़की: कोरोना वायरस दिन प्रतिदिन हमारे आस -पास बढ़ते ही जा रहा है। मेरे  कहा है की वक्सीनशन ही इसका उपाय है। पर पता नहीं मुझे डर लग रहा है। हमारे अगल बगल में इतनी अफवाहें जो फ़ैल रही है।

लड़की: अरे तुम दोनों कौन हो।

परी: मैं हूँ तुम्हारे अंदर की अच्छाई - परी

शैतान: मैं हूँ तुम्हारे अंदर की बुराई - शैतान

परी: मेरी बात मनो, तुम्हारे सर ने कहा है वैक्सीन लगवाने के लिए तो तुम्हे ज़रूर लगवाना चाहिए। फालतू की अफवाहों से दूर रहो।

शैतान: हेहेहे। तुम्हे पता है वैक्सीन लगवाने के बाद लोग बीमार पड़ जा रहे है, मुझे तो लग रहा है लोगो को वैक्सीन लगवाने से ही कोरोना हो जा रहा है।

परी: ये झूठी बात है ऐसा कुछ नहीं है, हाँ वैक्सीन के बाद लोगों को थोड़ा बुखार या इंजेक्शन के जगह पे दर्द जैसी समस्याएं देखनी पड़ रही है लेकिन ये ज़यादा चिंता की बात नहीं है और आसानी से ठीक भी हो जाते है।

शैतान: हेहेहे। एक बीमारी का वैक्सीन लेने जाओगी पता चला कई बीमारियां वहाँ से उठा लाओगी, मुझे तो यहाँ तक ये भी लगता है की ये वैक्सीन प्रभावी है भी नहीं।

परी: पहली बात तुम जाओ वैक्सीन लगवाने और हाँ मास्क पहन के जाना और वैक्सीन वाले जगह पे लोगो से दूरी बनाये रखना और हाँ ये वैक्सीन वायरस के खिलाफ काफी हद तक प्रभावी है।

शैतान: ठीक है अगर प्रभावी है तो वैक्सीन लगवाओ और उसके बाद खुले आम घूमो।

परी: अरे नहीं वैक्सीन के बाद भी सतर्क रहना ज़रूरी है कोरोना से बचाव के लिए नियमों का पालन करते रहना ज़रूरी है।

शैतान: मैंने बोला था कि वैक्सीन लो या ना लो एक ही बात है, एक तो दो -दो बार जाके वैक्सीन लेना फिर साइड इफ़ेक्ट झेलना। मुझे तो ये भी सुनने में आ रहा है कि वैक्सिनेशन के बाद लोगों के बच्चे नहीं होंगे।

परी: ये पूरी तरह से झूट और बेफजूल बातें है। अच्छा मान लो अगर तुमने वैक्सीन नहीं लिया और तुम्हे कोरोना हो गया तो।

शैतान: वैक्सीन लेने के बाद ये गारंटी भी तो नहीं कि कोरोना नहीं होगा।

परी: कोई वैक्सीन 100 % सुरक्षा नहीं देती है। लेकिन वो काफी हद तक प्रभावी होता है। इसलिए बाद में पछताने के बजाये पहले ही खुद को सुरक्षित कर लेना ज़यादा अच्छी बात है। है ना।

लड़की: हाँ सो तो है

परी: अगर फिर भी मन कुछ भी ऐसे संदेह हो तो अपने डॉक्टर्स से बात करो या किसी ट्रस्टेड सोर्स से जानकारी लो। किसी के भी बात में पड़ना सही बात नहीं है।


 Share